Tag Archives: संसाधनों का दोहन

जैव विविधता और आर्थिक मूल्य एक परिपेक्ष्य, महत्व

जीवन की विविधता पृथ्वी पर मानव के अस्तित्व और स्थाईत्व को मजबूती प्रदान करती हैं। समृद्ध जैव विविधता अच्छा स्वस्थ्य, खाद्द्य सुरक्षा, आर्थिक विकास, आजीविका सुरक्षा और जलवायु की परिस्थितियों को सामान्य बनाए रखने का आधार हैं। भारत एक प्राकृतिक सम्पन्न देश हैं और प्राचीनकाल से भारत प्राकृतिक संसाधनों का एक प्रमुख अंग हैं। पृथ्वी… Read More »