Tag Archives: ट्राइकोडर्मा की आवश्यकता

ट्राइकोडर्मा जैव -उर्वरकों के उपयोग का कृषि में महत्व

ट्राइकोडर्मा विरिडी ट्राइकोडर्मा हारजिएनम आदि ऐसे मित्र फफूँद हैं जो स्वयं के विकास से पौधों के मृदा व बीज जनित रोगो के रोग कारको को सकारात्मक रूप से बढ़कर जकड़ लेते हैं और उसकी कोशिका झिल्ली को पूरी तरह नष्ट कर देते हैं।भूमि जनित फफूंद रोग जैसे जड़गलन, उखटा, झुलसा, तना, गलन एवं अन्य भूमिगत… Read More »